नेता,अधिकारी मौन जनता की सुनेगा कौन 8 से 10 घंटे ही मिल रही है लोगो को बिजली-रिपोर्ट-रानू पांडेय

100

मोठ झाँसी- उमस और भीषण गर्मी के बीच बिजली की कटौती एवं आवाजाही से लोग परेशान है। अघोषित कटौती के बावजूद ओवर लोड़िग, ट्रिपिंग एवं फाल्टों से घण्टों बिजली गुल रहती है, जिससे लोगों के दिन का चैन और रातों का आराम छिन गया है। महिलाऐं, बच्चें एवं बुजुर्ग बीमार हो रहे है। नगर में बिजली का आलम यह है कि चौबीस घण्टों में मात्र चार से छह घण्टे ही बिजली मिल रही है। वह भी पार्ट टाइम में। शासन द्वारा मात्र चार घण्टे की कटौती निर्धारित है, लेकिन जब भी 33 केवीए विद्युत सब स्टेशन पर फोन से जानकारी ली जाती है तो 132 केवीए विद्युत स्टेशन मोंठ से कटौती होने की बात कहीं जाती है। जैसे-तैसे बिजली आती भी है तो दस या पन्द्रह मिनट में ही ट्रिप हो जाती है। इसी आवाजाही के बीच फाल्ट होने के कारण घण्टों बिजली गुल रहती है। विद्युत विभाग द्वारा की जा रही अघोषित विद्युत कटौती का रोस्टर भी जारी नहीं किया गया है। बदहाल विद्युत सप्लाई के चलते नगर की पेयजल आपूर्ति भी बाधित हो रही है। बरसात के मौसम की बजह से मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ गया है। ऐसे में बिजली नहीं होने से रात में लोग परेशान रहते है। लोग छतों पर बैठ कर रातें गुजार रहे है। बच्चे, बुजुर्ग एवं महिलाऐं बीमार हो रहे है। विद्युत पर आधारित उद्योग भी प्रभावित हो रहे है। मंगलवार को सुबह करीब 8 बजे से शाम करीब 6 बजे तक बिजली नहीं आयी थी। विद्युत कर्मचारियों की मानें तो 33केवीए विद्युत सब स्टेशन से एक ही फीडर से नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र की लाईन जुड़ी है तो कहीं भी फाल्ट या ओवर लोड़िग पर ट्रिपिंग हो जाती है, जबकि नगर का फीडर अलग से होना चाहिए। 33 केवीए विद्युत सब स्टेशन पर अलग-अलग फीडर के लिये एक कम्पनी द्वारा काम किया जाना है। मशीनें एक वर्ष पूर्व में ही आ चुकी है, लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारियों एवं कम्पनी की मिली भगत से कार्य नहीं करवाया जा रहा है। नतीजन नगर एवं क्षेत्र की जनता परेशान है। विद्युत विभाग की उदासीनता एवं लापरवाह रवैये से लोगों में रोष है। नगरवासियों ने उच्चाधिकारियों से नगर की विद्युत समस्या की ओर ध्यान आकृष्ट कर विद्युत व्यवस्था सुचारु कराये जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here