दिल के अरमाँ आँसुओ में बह गए

0
177

दिल के अरमान आसुंओं में बह गए

सागर/ इस चित्र में दो ऐसे लोग दिखाई दें रहें हैं जो इस महीने होने जा रहें बिधानसभा चुनाव में सागर जिले के अलग-अलग बिधानसभा क्षेत्रों से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ने की महत्वकांक्षा से काम करते रहे हैं, और जब कल भाजपा द्वारा अपने प्रत्याशियों की सूची जारी की गई तो इन ऊर्जावान उम्मीदवारों की उम्मीदें टुटकर बिखरती नज़र आईं है सागर नगर निगम के महापौर पद के लिए हुए उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही युबा ऊर्जावान नेत्री इंदू चौधरी उपचुनाव में पराजय के बाद कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गई थी तथा भाजपा में रहकर बिभिन्न कार्यकृमो में बढ़ चढ़ कर शामिल होती रहीं हैं उपचुनाव हो या पार्टी सदस्यता अभियान या सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार का कार्य हो हर समय लगन से दायित्व निभाने की कोशिश करते दिखाई देती रही अपनी मेहनत और महत्वकांक्षा के साथ राज्य के ग्रह मंत्री भूपेंद्र सिंह के संरक्षण में नरयावली बिधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनने की इंदू की उम्मीद भाजपा प्रत्याशियों की सूची आने पर टुटने की मंद मंद आबाज साफ सुनाई देती है।
सागर में पहले निजी बिश्वबिधालय के रुप में स्वामी विवेकानंद बिश्व बिध्यालय की स्थापना कर कुलपति जैसे महत्वपूर्ण और गरिमामय पद को धारण करने बाले अनिल तिवारी भी सागर जिले में सागर और देबरी बिधानसभा क्षेत्र से भाजपा टिकटार्थी के रुप में प्रयासरत रहे हैं अपनी राजनैतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति के लिए अनिल तिवारी बिश्व बिध्यालय के कुलपति जैसे महत्वपूर्ण और गरिमामय पद की गरिमा भी सुरक्षित रखने का ख्याल नहीं रख सके , प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह के सागर प्रबास के समय आम पार्टी कार्यकर्ताओं की तरह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के मंच पर खड़े दिखाई देते अनिल तिवारी यदि इस मंच पर बतौर बिश्व बिध्यालय के कुलपति गये होते तो प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह के बगल बाली कुर्सी पर बैठे दिख सकतें थे परंतु कुलपति रहते हुए आम कार्यकर्ता बनकर मंच पर खड़े तिवारी जी की उम्मीदें भी भाजपा उम्मीदवारों की सूची जारी होने पर टुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here