आज रेल की रफ्तार पर मंथन करेंगे सांसद, वाराणसी रेल मंडल मुख्यालय पर होगी चर्चा

0
6
  • इस बैठक में 36 सांसदों के शामिल होने की संभावना है, जो रेल की रफ्तार पर चर्चा करेंगे
  • बैठक में विकास के लिए प्रस्तावित रोडमैप, इसकी कमियों पर चर्चा होनी है
  • तैयारियों में चूक न हो इसके लिए रेल मंडल प्रबंधक खुद इस पर फोकस कर रहे हैं
हर साल की तरह इस साल भी वाराणसी रेल मंडल मुख्यालय पर पूर्वोत्तर रेल के महाप्रबंधक समेत आला अधिकारियों के साथ सांसदों की बैठक होने जा रही है। इस बैठक में 36 सांसदों के शामिल होने की संभावना है, जो रेल की रफ्तार पर चर्चा करेंगे।

बैठक में विकास के लिए प्रस्तावित रोडमैप, इसकी कमियों पर चर्चा होनी है। यह बैठक आज है। सांसद अपने क्षेत्रों की समस्याएं, खूबियां सहित अन्य कामों पर चर्चा करेंगे। तैयारियों में चूक न हो इसके लिए रेल मंडल प्रबंधक खुद इस पर फोकस कर रहे हैं।

वाराणसी रेल मंडल मुख्यालय पर आयोजित किए जा रहे कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वाराणसी मंडल क्षेत्रफल में आने वाले सभी सांसदों को न्योता भेजा गया है। इसमें पीएम मोदी समेत 36 सांसद शामिल हैं।

इनमें 8 राज्य सभा सदस्य और 28 सांसद शामिल हैं। ये सांसद और आला अधिकारी अपने क्षेत्रों की रेलवे स्टेशन की सवुधिओं, कमियों, खूबियों और ट्रेनों की रफ्तार पर चर्चा करेंगे। इसके साथ ही अपने यहां की समस्याओं को निपटाने के लिए सुझाव देंगे और उसे समस्या को खत्म करने की मांग उठाएंगे।

यूपी-बिहार के बड़े भू-भाग में फैला है रेल मंडल 

पूर्वोत्तर रेल का वाराणसी मंडल क्षेत्रफल के लिहाज से बहुत बड़ा (1521 किमी.) है। मसलन, वाराणसी से इलाहाबाद सिटी, छपरा, गोरखपुर सिटी तो बिहार के छपरा, सिवान तक फैला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here